Loading...

वास्तविक गायत्री मंत्र। - यजुर्वेद


यजुर्वेद अध्याय 36 मंत्र 3 भूर्भुव: स्व: तत्सवितुर्वरेण्यं । भर्गो देवस्य धीमहि, धीयो यो न: प्रचोदयात्। वेद मंत्र में कहीं भी ॐ नहीं लिखा है। ये अज्ञानी संतो की अपनी सोच से लगाया गया है।

Satlok
9929611308